welcome to the blog

you are welcome to this blog .PLEASE VISIT UPTO END you will find answers of your jigyasa.

See Guruji giving blessings in the end

The prashna & answers are taken from Dharamdoot.




AdSense code

IPO India Information (BSE / NSE)

Sunday, April 24, 2011

पुज्य गुरुदेव !ब्रह्मज्ञान क़ा मार्ग क्या हे ?

जिज्ञासु  :  पुज्य गुरुदेव !ब्रह्मज्ञान  क़ा मार्ग क्या हे ?
 महाराजश्री :-गुरु के प्रति श्रद्धा हे ,माता पिता के प्रति श्रद्धा हे ,अपने धर्म  के प्रति श्रद्धा हे , उसे और दृढ़ करते चले  जाओ ! यदि आप ऐसा करेंगे तो आप आगे बढ़ सकते हैं ! ब्रह्म ज्ञान क़ा मार्ग यही है ! भक्ति की तरफ चलने क़ा मार्ग यही है कि अपनी श्रद्धा को गहरा करो समर्पण के भाव जगाओ !


Wednesday, April 20, 2011

जिज्ञासु :- पूज्य गुरूदेव ! कहते है की कर्मबंधन के

जिज्ञासु :- पूज्य गुरूदेव ! कहते है की कर्मबंधन के कारण संसार में जन्म लेना पड़ता है ! यदि यह सच है तो क्या कर्म हम बंधन में बंधने के लिए कर्म करते है !
महाराजश्री :-सारे शास्त्र कहते है की कर्म बंधन के कारण है ! जब आप कर्म करते है तो बंधन के जाल में बंध जाते हें !भगवान कृष्ण ने संसार को एक ओर विज्ञान दिया ! उन्होंने कहा की कर्म बंधन का कारण नहीं बल्कि आसक्ति बंधन का कारण हें ! यदि किसी कर्म में आसक्ति हो गई तो वह बंधन का कारण बनेगी ! इसीलिए कहते है की कर्म करो लकिन निष्काम भाव से करो ! कर्म करते हुए फल की इच्छा न करो !