welcome to the blog

you are welcome to this blog .PLEASE VISIT UPTO END you will find answers of your jigyasa.

See Guruji giving blessings in the end

The prashna & answers are taken from Dharamdoot.




AdSense code

IPO India Information (BSE / NSE)

Monday, December 22, 2014

आदमी की द्रष्टी दो



  • आदमी की द्रष्टी दो तरह की होती है , एक बस कमी देखता है की उस के पास नहीं है , और दुखी होता है ,दूसरा एक तिनके पर भी खुश है ,जो है उसी में खुश रहता हे  तो वह निराशा में नहीं जीता 

No comments: